Top

कांग्रेस ने कर्जमाफी के CERTIFICATE बांटे, कर्ज नहीं किया माफ

कांग्रेस ने कर्जमाफी के CERTIFICATE बांटे, कर्ज नहीं किया माफ

भोपालमुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसान कर्जमाफी को लेकर पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाते हुए आज कहा कि उनकी सरकार में किसानों को कर्जमाफी के केवल प्रमाण पत्र बांटे गए, कर्ज माफ नहीं किया गया, बैंक अब उनसे पैंसा मांग रहे हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जिले के मान्धाता विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पुनासा में एक सभा को संबोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने कर्ज माफ़ करने का वादा कर छह हजार करोड़ रूपये के कर्जमाफी के सर्टिफिकेट तो बाँट दिए, लेकिन कर्जमाफ़ नहीं किया, अब बैंक वाले उनसे पैसा मांग रहे हैं। उन्होंने कहा कि जनता के साथ छल किया है, सवा साल में कांग्रेस ने मध्यप्रदेश का बहुत नुकसान किया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि हमारी सरकार लगातार किसानों की बेहतरी के लिए काम कर रही है। हमारी कोशिश है कि स्वसहायता समूहों से जुड़ी हमारी बहनों को कम से कम 10 हजार रुपये प्रतिमाह की आय हो। हम युवाओं के लिए सरकारी भर्तियां जल्द शुरू करने वाले हैं। जनता के हित वाली जो योजनाएं कांग्रेस सरकार ने बंद कर दी थीं, हम फिर से शुरू कर रहे हैं। हमारा विश्वास है कि जिस तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आत्मनिर्भर भारत बना रहे हैं, उसी की तर्ज पर मध्यप्रदेश भी आत्मनिर्भर बनकर रहेगा।

इस मौके पर उन्होंने विकास कार्यों के लोकार्पण व भूमिपूजन के कार्यक्रम में करोड़ों रूपए की सौगातें देते हुए खंडवा जिले के मूंदी और किल्लोद को तहसील का दर्जा देने तथा पुनासा को नगर परिषद का दर्जा देने की घोषणा की। साथ ही उन्होंने संत सिंगाजी समाधि स्थल को प्रदेश का धार्मिक पर्यटन स्थल भी घोषित किया है। इसके अलावा उन्होंने सिंगाजी समाधि स्थल क्षेत्र में अधोसंरचना के विकास के लिए 1 करोड़ 55 लाख रुपए स्वीकृत करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने सिंगाजी समाधि तक पहुंचने के लिए 3 किलोमीटर तक लम्बे मार्ग निर्माण की भी घोषणा की।

विकास कार्यों के भूमिपूजन व लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अब प्रदेश में फसल बीमा योजना को नए स्वरूप में लागू किया जायेगा। उन्होंने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि पुनासा उद्वहन सिंचाई योजना के साथ साथ माइक्रों लिफ्ट एरिगेशन योजना के लिए सर्वे कराकर प्राकलन तैयार कराया जायेगा, शीघ्र ही भूमिपूजन किया जायेगा।

उन्होंने कहा कि गोराडीमाल सिंचाई योजना में छूटे हुए 7 गांवों को शामिल किया जाएगा। कार्यक्रम को प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल, क्षेत्रीय सांसद नंदकुमार सिंह चौहान, खंडवा विधायक देवेंद्र वर्मा, पंधाना विधायक राम दांगोड़े, मांधाता के पूर्व विधायक नारायण पटेल, खंडवा कलेक्टर अनय द्विवेदी, जिला भाजपा अध्यक्ष सेवादास पटेल व हरीश कोटवाले सहित विभिन्न अधिकारी व जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने संबोधन में कहा कि प्रदेश में दींन दुखियों और गरीबों के लिए संबल योजना एक वरदान है। इस योजना में मजदूरों के बच्चों की शिक्षा, उपचार से लेकर अंतिम संस्कार तक के लिए मदद का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष बारिश से प्रभावित हुई फसलों का ईमानदारी से सर्वें कराने के आदेश देते हुए कहा कि पर्याप्त राहत राशि की व्यवस्था की जाएगी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि प्रदेश में लाखों गरीबों को 1 रूपये किलो दर पर गेहूं, चावल व नमक उपलब्ध कराने के लिए पात्रता पर्ची जारी की गई है। उन्होंने कलेक्टर को निर्देश दिए कि जिले में यदि कोई पात्र व्यक्ति अभी भी पात्रता पर्ची से वंचित रह गया है तो उसे भी पात्रता पर्ची जारी की जायें। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में स्थापित होने वाले उद्योगों में स्थानीय लोगों के लिए 70 प्रतिशत नौकरियां देना सुनिश्चित किया जायेगा।

राज्य के कृषि मंत्री कमल पटेल ने लोकार्पण व भूमिपूजन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में अब सर्वांगीण विकास के लिए आत्मनिर्भर मप्र की दिशा में कदम बढ़ गए है। अब सरकार निरंतर लोक कल्याणकारी योजनाओं से नागरिकों को लाभांवित करने में जुट गई है। उन्होंने कहा कि आरबीसी 6-4 के अंतर्गत बारिश से प्रभावित फसलों की राहत राशि किसानों को प्रदान की जाएगी।

epmty
epmty
Top