Top

मंत्रियों पर मेहरबान शिवराज सरकार: कांग्रेस

मंत्रियों पर मेहरबान शिवराज सरकार: कांग्रेस

भोपाल। कोरोना महामारी के चलते राज्य में आर्थिक संकट का दौर चल रहा है. सरकारी खजानों की स्थिति पहले जैसी नहीं है. बावजूद इसके शिवराज सरकर अपने मंत्रियों पर मेहरबान है. सरकार मंत्रियों का आयकर अपने खजाने से भरेगी. कटौती के दौर में सरकार ने आयकर भरने के लिए 2 करोड़ जारी भी कर दिए हैं. यह तब है जब राज्य कर्मचारियों के डीए पर रोक लगाई हुई. वेतन वृद्धि पर ब्रेक लगा हुआ और उनका एरियर भी अटका है. राज्य कर्मचारियों के अन्य भुगतान भी सरकार ने रोक रखे हैं. मंत्रियों के आयकर भरने के फैसले पर कांग्रेस ने हमला बोला है. कांग्रेस ने कहा कि कर्मचारियों की सुविधाओं में कटौती कर मंत्रियों पर मेहरबानी शर्मनाक है।

प्रदेश में यह सुविधा ऐसे मंत्रियों को दी जाएगी जिनका वेतन 1 लाख 70 हजार से अधिक है। यह स्थिति भी तब बन रही है जब सरकार खुद सरकारी खर्चों में कटौती कर रही है। मंत्रियों की सुख-सुविधा को ध्यान में रखते हुए शिवराज सरकार ने 41.79 करोड़ का बजट जारी किया हुआ है। इसमें दौरे, अतिथि सत्कार , यात्रा खर्च तथा अन्य खर्चे शामिल हैं।

कैबिनेट मंत्री को 1.70 लाख का वेतन भत्ता मिलता है. इसमें उन्होंने कोरोना से बचाव के लिए मरीजों के इलाज के लिए अपने वेतन से 30ः कटौती का एलान किया था यानी 30ः राशि उनके वेतन से कटेगी. जिसका हिसाब 13500 रुपये प्रतिमाह बैठता है. इस कटौती का शोर मंत्रियों से खूब सुना गया, लेकिन अब उनके आयकर पर खर्च होने वाले 1.80 लाख रुपये शिवराज सरकर ही भरेगी. शायद इससे उनका गुस्सा अब शांत हो जाए।

(हिफी न्यूज)

epmty
epmty
Top