Top

चीन ने फिर लोकतंत्र का गला घोंटा

चीन ने फिर लोकतंत्र का गला घोंटा

नई दिल्ली। चीन में थियानमेन घटना की 31वीं बरसी पर 4 जून को एक बैठक आयोजित करने पर जूम वीडियो कम्युनिकेशंस ने तीन अकाउंट अस्थायी रूप से निलंबित कर दिए थे। जूम वीडियो कम्युनिकेशंस इंक ने स्वीकार किया कि थियानमेन स्क्वायर की बरसी से संबंधित तीनों अकाउंट को निलंबित करने और मीटिंग खत्म करने का निर्णय इसलिए लिया गया क्योंकि चीन सरकार द्वारा ऐसा करने के लिए कहा गया था।

बता दें कि वीडियो- कॉन्फ्रेंसिंग ऐप जूम ने तीन कार्यकर्ताओं के अकाउंट अस्थायी रूप से बंद कर दिए थे, उनमें से एक हांगकांग और दो अमेरिका के थे। उन्होंने थियानमेन घटना की 31 वीं बरसी पर एक आयोजन किया था, जिसमें जूम के जरिये दुनियाभर से 250 से ज्यादा लोग शामिल हुए थे। थियानमेन चैक पर लोकतंत्र समर्थक विरोध प्रदर्शनों पर चीन द्वारा जनसंहार किया गया था। एक ब्लॉगपोस्ट पर अपना बयान साझा करते हुए, जूम ने कहा कि-चीनी सरकार ने उन्हें चार बड़ी बैठकों के बारे में सूचित किया था और उन बैठकों व उनसे जुड़े अकाउंट्स को खत्म करने की मांग की थी।

बयान में कहा गया कि-जूम ने उन तीन बैठकों को रद्द कर दिया और होस्ट अकाउंट को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया। एक बैठक को बंद नहीं किया गया था क्योंकि इसमें चीन के प्रतिभागी नहीं थे। जूम ने कहा कि अब उन्होंने सभी अकाउंट को दोबारा सक्रिय कर दिया है. हालांकि, जूम ने ये भी कहा कि वे यूजर की जानकारी और मीटिंग की सामग्री चीनी सरकार से साझा नहीं करते। साथ में ये भी कहा कि भविष्य में वो प्रशासन की तरफ से आने वाले ऐसे अनुरोध नहीं मानेंगे जिससे चीन के बाहर के यूजर प्रभावित हों।

epmty
epmty
Top