Top

स्टाफ नर्स के आक्सीजन हटाने से महिला की मौत - परिजनों का हंगामा

स्टाफ नर्स के आक्सीजन हटाने से महिला की मौत - परिजनों का हंगामा

जींद। हरियाणा के जींद जिले में यहां नागरिक अस्पताल के आपातकालीन वार्ड में सांस लेने की दिक्कत के चलते दाखिल महिला की आज स्टाफ नर्स द्वारा ऑक्सीजन हटाते ही मौत हो गई।

महिला की मौत होते ही उसके परिजनों ने आपातकालीन वार्ड में हंगामा कर दिया और स्टाॅफ नर्स पर महिला की ऑक्सीजन हटाकर दूसरे मरीज को लगाने का आरोप लगाया। बाद में पुलिस ने वार्ड में पहुंचकर परिजनों को शांत किया। अमरहेड़ी गांव निवासी कृष्णा देवी(72) को फेफड़ों की बीमारी थी और तीन दिन पहले सांस लेने में दिक्कत के चलते उन्हें नागरिक अस्पताल के आपातकालीन वार्ड में दाखिल कराया था। उसके बाद से वह ऑक्सीजन पर थी। सोमवार शाम को ड्यूटी पर तैनात स्टाफ नर्स ने यह कहकर ऑक्सीजन हटा दी कि उसके शरीर का ऑक्सीजन स्तर 90 पहुंच गया है लेकिन कृष्णा के परिजनों ने इसका विरोध किया।

स्टाफ नर्स ने कृष्णा के मुंह से ऑक्सीजन हटाकर आपातकालीन वार्ड में आए दूसरे मरीज को लगा दी। जैसे ही ऑक्सीजन हटाई तो कृष्णा की अचानक ही तबीयत बिगड़ गई और जब तक स्टाफ उसे संभालता तब तक उसकी मौत हो गई थी। इसके बाद कृष्णा के परिजनों ने वार्ड में ही हंगामा कर दिया। बाद में वहां पर तैनात स्टाफ ने पुलिस कर्मियों को बुलाया और हंगामा कर रहे कृष्णा के परिजनों को बाहर निकाला।

नागरिक अस्पताल के एमएस डा. गोपाल गोयल ने बताया कि महिला कोरोना पॉजिटिव नहीं थी लेकिन सांस लेने में दिक्कत के चलते उसे दाखिल किया गया था। महिला का ऑक्सीजन स्तर 90 था। आपातकाल में आये मरीज का ऑक्सीज़न स्तर 40 था और उस मरीज को ऑक्सीज़न देने के लिये कृष्णा की ऑक्सीजन पांच मिनट के लिए हटाई गई थी लेकिन इसी दौरान अचानक उसकी मौत हो गई।

वार्ता

epmty
epmty
Top