Top

योद्धा को कोरोना ने बनाया निवाला-इलाज को लेकर आरोप

योद्धा को कोरोना ने बनाया निवाला-इलाज को लेकर आरोप

इंदौर। कोरोना संक्रमण ने अब अपना दायरा बढ़ाते हुए अपनी जान की परवाह न करने वाले योद्धाओं को भी अपना निशाना बनाना शुरू कर दिया है। इलाज के लिए शासकीय अस्पताल में भर्ती कराए गए कोरोना वारियर्स एंबुलेंस चालक ने कोरोना से हार मान कर दम तोड़ दिया।

बृहस्पतिवार को इंदौर जिले के एक शासकीय अस्पताल में उस कोरोना वॉरियर्स एम्बुलेंस चालक ने कोरोना से दम तोड़ दिया, जिसे 14 दिन पहले कोरोना का पहला डोज लगा था।

उपचार में जुटे सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के अधीक्षक डॉ. सुमित शुक्ला ने बताया कि 44 वर्षीय संजय मंडलोई निवासी राजेंद्र नगर को दो दिन पहले उपचार के लिए एक निजी अस्पताल से यहां ईलाज के लिये लाया गया था। संजय को बीते 18 मार्च को शासकीय महाराजा यशवंत राव चिकित्सालय में कोरोना का पहला टीका लगा था। दो दिन पहले कोरोना की जांच में उसे संक्रमित पाया गया। इसी आधार पर उसका यहां उपचार किया जा रहा था।

संजय की नियोक्ता कम्पनी के वरिष्ठ अधिकारी रवि कुमार त्रिवेदी ने बताया कि संजय राज्य शासन से अनुबंधित 108 एम्बुलेंस सेवा के तहत बतौर एम्बुलेंस पायलट सेवारत था। उन्होंने नियोक्ता कम्पनी और इलाज में जुटे दो शासकीय अस्पताल और एक निजी अस्पताल पर भी कई आरोप लगाए हैं।





epmty
epmty
Top