Top

बाढ़ के दौरान हुई क्षति के मूल्यांकन एवं सहायता हेतु जनपदों से अपेक्षित सूचनाएं अब ऑनलाइन

लखनऊ। बाढ़ के दौरान हुई क्षति के मूल्यांकन एवं सहायता हेतु जनपदों से अपेक्षित सूचनाएं इस वर्ष राहत आयुक्त कार्यालय में ऑनलाइन कर दी गयी है। यह जानकारी देते हुए आज यहां राहत आयुक्त जी0एस0 प्रियदर्शी ने बताया कि जनपद समस्त सूचनाएं राहत की वेबसाइट rahat.up.nic.in पर ऑनलाइन प्रारूप में भर सकते हैं। उन्होंने कहा कि जनपदों द्वारा भरी गई सूचना के आधार पर प्रदेश में बाढ़ से हुई क्षति के सापेक्ष बाढ़ मेमोरेंडम स्वतः ऑनलाइन जेनरेट हो जाएगा।

राहत आयुक्त जी0एस0 प्रियदर्शी ने जिलाधिकारी गोरखपुर, लखीमपुर खीरी, गोण्डा, बस्ती एवं कुशीनगर को निर्देश दिए हैं कि इस प्रणाली में टेस्टिंग हेतु वर्ष 2018 का बाढ़ मेमोरेंडम डाटा दिनांक 22.06.2019 तक ऑनलाइन फीड कर दें जिससे वर्ष 2019 की ऑनलाइन फीडिंग में असुविधा न उत्पन्न हो। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन डाटा फीडिंग हेतु समस्या उत्पन्न होने की स्थिति में प्रशांत शाही, प्रोग्रामर, राहत आयुक्त कार्यालय के मो० नं0 8840394906 एवं ई-मेल rahat/nic.in पर सम्पर्क किया जा सकता है।

राहत आयुक्त जी0एस0 प्रियदर्शी ने बताया कि प्रत्येक वर्ष भारत सरकार द्वारा बाढ़ के दौरान हुई क्षति के मूल्यांकन एवं सहायता राशि हेतु 11 प्रारूपों पर राज्य सरकार द्वारा सूचना अपेक्षित होती है। वर्तमान समय में यह प्रक्रिया जनपदों द्वारा आफलाइन माध्यम से की जाती थी।

epmty
epmty
Top