Top

किसानों की सहूलियत हेतु उर्वरक बिक्री केन्द्रों पर बैनर किये जायें स्थापित- कृषि मंत्री

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री, सूर्य प्रताप शाही ने कहा है कि किसानों को निर्धारित मूल्य पर गुणवत्तायुक्त उर्वरक उपलब्ध कराना सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि जनपदों के प्रत्येक निजी एवं साधन सहकारी समितियों के उर्वरक बिक्री केन्द्रों पर किसानों की सहूलियत हेतु बैनर स्थापना सुनिश्चित की जाय, जिसमें उर्वरक विक्रेता का नाम व मोबाईल नं0, जिला कृषि अधिकारी अथवा जिला सहायक निबंधक का नाम व मोबाईल नं0 अंकित होने के साथ ही उर्वरक की पुरानी दर एवं मौजूदा दर का अवश्य अंकन किया जाय। जिससे निर्धारित मूल्य से अधिक दर पर उर्वरक की बिक्री किये जाने पर किसान सम्बन्धित विक्रेता की शिकायत स्थानीय कृषि अधिकारी से कर सके।

कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने बताया कि किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुये कृषि विभाग द्वारा जिलाधिकारी एवं मण्डलायुक्त के अधीन विभिन्न विभागों के अधिकारियों की टीम गठित कर उर्वरक विक्रय केन्द्रों पर आकस्मिक छापे डाले गये। इस कार्यवाही के दौरान 3239 छापे डालकर 1078 उर्वरक नमूने लिये गये। उर्वरक बिक्री केन्द्रों पर अनियमितता पाये जाने पर 09 विक्रेताओं के उर्वरक विक्रय लाइसेंस निरस्त किये जाने के साथ ही 225 विक्रेताओं के लाइसेंस निलम्बित किये गये। इसके अतिरिक्त 294 उर्वरक व्यवसाइयों को कठोर चेतावनी निर्गत की गयी।

सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि किसानों के हित में यूरिया पर लगने वाले अतिरिक्त कर ए0सी0टी0एन0 को समाप्त कर यूरिया की 45 कि0ग्रा0 बोरी का मूल्य 299.00 रूपये से घटाकर 266.50 रूपये, जबकि 50 कि0ग्रा0 बोरी का मूल्य 331.50 से घटाकर 295.00 रूपये कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में रसायनिक उर्वरकों की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु जनवरी, 2019 तक निर्धारित लक्ष्य यूरिया 16.30 लाख मी0टन, डी0ए0पी0 10.07 लाख मी0टन, एन0पी0के0 3.28 लाख मी0टन एवं एम0ओ0पी0 0.95 लाख मी0टन के सापेक्ष 14 जनवरी, 2019 तक यूरिया 19.83 लाख मी0टन, डी0ए0पी0 12.32 लाख मी0टन, एन0पी0के0 4.49 लाख मी0टन एवं एम0ओ0पी0 1.18 लाख मी0टन उपलब्ध करायी जा चुकी है, जो कि माह जनवरी हेतु निर्धारित लक्ष्य से अधिक है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में उर्वरक की कहीं कोई कमी नहीं है, प्रदेश में पर्याप्त मात्रा में उर्वरक उपलब्ध है।

epmty
epmty
Top