Top

इधर सांसद केंद्र में मंत्री बने उधर मकान पर छाया ध्वस्तीकरण का साया

इधर सांसद केंद्र में मंत्री बने उधर मकान पर छाया ध्वस्तीकरण का साया

नई दिल्ली। मोदी सरकार के मंत्रिमंडल के हाल ही में हुए विस्तार के दौरान राज्य मंत्री बनाए गए जॉन बर्ला के आवास पर ध्वस्तीकरण का साया मंडराने लगा है। पश्चिम बंगाल सरकार के निशाने पर आए अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री के खिलाफ जलपाईगुड़ी प्रशासन ने लकीपारा टी स्टेट मैनेजमेंट को कार्यवाही शुरू करने के लिए कहा है। अलीपुरद्वार के सांसद जॉन बर्ला पर आरोप लगाया गया है कि उन्होंने चाय बागान की जमीन पर अतिक्रमण करके मकान बनाया है। आदेश के मुताबिक, इसे तोड़ा जा सकता है।

डीएम मौमिता गोडारा बसु ने ब्लॉक भूमि और भूमि राजस्व अधिकारी से रिपोर्ट मिलने के बाद कार्रवाई शुरू की। उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री ने अवैध रूप से जिले के बानारहाट में छामूरछी मोड़ पर सरकारी जमीन पर कब्जा करके तीन पक्के मकानों का निर्माण कराया। बसु ने फोन पर कहा, ''यह जमीन किसी की निजी संपत्ति नहीं है, बल्कि लीज पर ली गई जमीन है, जहां कोई पक्के ढांचे नहीं बना सकता है। मैंने चाय बागान प्रशासन से अतिक्रमण हटाने और तुरंत वापस लेने को कहा गया है। मैंने उनसे कहा है कि जितनी जल्दी संभव हो कार्रवाई की जाए।''

जिला प्रशासन ने स्थानीय टीएमसी नेताओं से मिली शिकायत के बाद प्रखंड भूमि और भूमि राजस्व अधिकारी से रिपोर्ट मांगी थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि बीजेपी सांसद अवैध रूप से जमीन पर कब्जा कर रहे हैं। प्रशासन के एक सूत्र ने बताया कंपनी ने अपने खत में जिला प्रशासन से कहा है कि उसने बर्ला को लीज पर ली गई जमीन पर कॉमर्शल बील्डिंग बनाने की अनुमति नहीं दी थी।







epmty
epmty
Top