बसों में औरतों की हिफाजत के लिए सीएम ने उठाया अहम कदम

बसों में औरतों की हिफाजत के लिए सीएम ने उठाया अहम कदम

~बसों में महिलाओं के साथ छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी: CM केजरीवाल

~5500 पूर्व होमगार्ड नियुक्त किए जाएंगे

नई दिल्ली । दिल्ली की DTC और क्लस्टर स्कीम की सभी बसों में 5500 मार्शल नियुक्त होंगे। इसमें पूर्व होमगार्ड की नियुक्ति होगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सीएम आवास पर पूर्व होमगार्डों के सामने यह घोषणा की। जिसके बाद बसों में महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित हो जाएगी। दीवाली से बसों में मार्शलों की नियुक्ति प्रारंभ हो जाएगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्विट कर पूर्व होमगार्डों से अपील की कि वे बसों में पूरी निष्ठा के साथ महिलाओं की सुरक्षा करें।

बसों में महिलाएं महसूस करेंगी सुरक्षित

मार्शल की नियुक्ति होने के बाद महिलाओं के लिए बसों में सफर सुरक्षित हो जाएगा। इस बार क्लस्टर बसों में भी पहली बार मार्शल की नियुक्ति हो रही है। अरविंद केजरीवाल सरकार महिला सुरक्षा को लेकर लगातार काम कर रही है। मार्शल की नियुक्ति होने के बाद महिलाओं के लिए बसों में सफर सुरक्षित हो जाएगा। इस बार क्लस्टर बसों में भी पहली बार मार्शल की नियुक्ति हो रही है।


अरविंद केजरीवाल सरकार महिला सुरक्षा को लेकर लगातार काम कर रही है। दिल्ली में ३ लाख CCTV कैमरे लगाने का काम पूरे जोर में शुरू हो चूका है. पूरी दिल्ली से ये रिपोर्ट आ रही है की इन कैमरों से जहां पहले महिलाओं को घर से निकलते समय डर सताता था, अब वो अपने सुरक्षा को लेकर चिंतित नहीं रहती है।

CCTV के अलावा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्ट्रीट लाइट योजना भी लांच की है, जिसके तहत पूरे शहर में डार्क स्पॉट दूर करने के लिए काम हो रहा है। CCTV लगाने के मॉडल पर ही स्ट्रीटलाइट योजना द्वारा लोग अपने मकानों पर लाइटें लगा सकते हैं। दुनिया में पहली बार एक साथ 2.1 लाख स्ट्रीटलाइट लगाने की योजना शुरू की जा रही हैं।

मुख्यमंत्री ने होमगार्डों से कहा, मेरी बहनों की सुरक्षा आपकी जिम्मेदारी है

शुक्रवार को हजारों की संख्या में पूर्व होमगार्ड मुख्यमंत्री आवास पर CM को धन्यवाद देने पहुंचे थे। इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पूर्व होमगार्डों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि दिवाली के पहले पहले आप लोगों की ज्वाइन कराने की कोशिश होगी। इन्हे बस मार्शल नियुक्त किया जाएगा। आप लोगों के लिए आपकी नौकरी प्यारी है। मेरे लिए मेरे दिल्ली के लोग भी प्यारे हैं। मैं उम्मीद करता हूं कि बसों में जब आप की नियुक्ति होगी तो बसों में आप पूरी मुस्तैदी के साथ महिलाओं की रक्षा करने के लिए काम करेंगे। मैं उम्मीद करता हूं कि आने वाली दीवाली से जब आपकी नियुक्ति होगी तो दिल्ली की बसों में महिला सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी आप उठाए। किसी महिला के साथ छेड़छाड़ होती है, तो ऐसी हरकत करने वालों को रोकना और पुलिस के हवाले करना आपकी जिम्मेदारी होगी।

5500 भर्तियां शुरू हो रही हैं और इन 5500 पोस्ट पर पूर्व होमगार्डों को रखा जाएगा। पहले उनसे शुरुआत करेंगे, जिन्होंने कभी भी 3 साल से ज्यादा की नौकरी की है। हमारा अपना अनुमान है, कि ऐसे लोग काफी कम होंगे। उसके बाद फिर जिन लोगों ने 2 साल से अधिक नौकरी कर रखी है, उनकी भर्ती की जाएगी । कुल 5500 लोगों की भर्ती की जाएगी। रिटायरमेंट 60 साल की है। जो लोग भी 60 साल से कम आयु के हैं, वह इसमें अपना आवेदन कर सकते हैं। कागज चैक किए जाएंगे, जिन जिन लोगों ने पहले नौकरी की है, उनको अपने दस्तावेज दिखाने होंगे और केवल फिजिकल फिटनेस टेस्ट होगा। उसके बाद आप लोगों को तुरंत रख लिया जाएगा।

ऐसे पूर्व होमगार्ड कर सकेंगे आवेदन

दिल्ली सरकार 2-3 दिन में अखबारों में विज्ञापन देकर मार्शल के लिए आवेदन मांगेगी। इसमें पहली प्राथमिकता तीन साल नौकरी कर चुके होमगार्ड को दी जाएगी। फिर दो साल नौकरी कर चुके पूर्व होमगार्ड को प्राथमिकता मिलेगी। गृह मंत्री सतेंद्र जैन का कहना है कि सरकारी आंकड़ों के अनुसार पांच हजार पूर्व होमगार्ड ऐसे हैं जिन्हें नौकरी से निकाला गया था। इस तरह उन सभी पांच हजार होमगार्ड को नौकरी मिल जाएगी। पूर्व होमगार्ड को सिर्फ अनुभव प्रमाण पत्र और आयु प्रमाण पत्र देना होगा। फिर फिजिकल होगा और नियुक्ति हो जाएगी। सतेंद्र जैन का कहना है कि भर्ती दीवाली से पहले पूरी कर ली जाएगी। साथ ही सारे मार्शल को दीवाली से पहले बसों में नियुक्त करने की योजना है।

मार्निंग शिफ्ट में भी नियुक्त होंगे मार्शल

अभी डीटीसी की केवल ईवनिंग शिफ्ट में ही मार्शल होते हैं। अब बसों में मॉर्निंग शिफ्ट में भी मार्शल तैनात करने का फैसला लिया गया है। डीटीसी की बसों में दोनों शिफ्ट के साथ- साथ क्लस्टर स्कीम के तहत चलने वाली बसों में भी अब मार्शल नियुक्त किए जाएंगे। अभी डीटीसी की मॉर्निंग शिफ्ट और क्लस्टर स्कीम की बसों में मार्शल नहीं होते लेकिन अब सारी बसों में मार्शल तैनात होंगे। बस मार्शल नियुक्त किए जाएंगे, उनकी पहले ट्रेनिंग होगी। डीटीसी को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है कि वह स्टैंडर्ड ऑपरेटरिंग प्रसीजर (एसओपी) बनाए।

तीन हजार अतिरिक्त मार्शल के लिए विकल्प तलाश रही सरकार

अभी डीटीसी के पास 154 होम गार्ड सहित कुल 3256 मार्शल हैं। वर्तमान में 8750 और मार्शलों की भर्ती होनी है। अभी सरकार 57 सौ भर्ती करने जा रही है। अन्य तीन हजार मार्शल नियुक्त करने के लिए दिल्ली सरकार विकल्प तलाश रही है।

जब आवास के बाहर खड़े पूर्व होमगार्डों के लिए अस्थायी मंच पर चढ़े सीएम

शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास पर हजारों की संख्या में पूर्व होमगार्ड धन्यवाद देने पहुंचे थे। संख्या ज्यादा होने के कारण कई होमगार्ड उनके आवास के अंदर नहीं पहुँच पाए। उनसे मिलने के लिए मुख्यमंत्री आवास के बाहर एक अस्थायी मंच पर चढ़ गए। जिससे बाहर खड़े लोगों से भी वह रू ब रू हो पाए। जिससे आवास के बाहर खड़े होमगार्डों का जोश कई गुना बढ़ गया। मुख्यमंत्री आवास पर पहुंचे किसी भी व्यक्ति को निराश नहीं देखना चाहते थे।

Top