Top

भारत का अकेला ऐसा रेलवे स्टेशन, आधा भाग गुजरात में तो शेष महाराष्ट्र में

भारत का अकेला ऐसा रेलवे स्टेशन, आधा भाग गुजरात में तो शेष महाराष्ट्र में

नई दिल्ली देशभर में रेलवे स्टेशनों का अपनी एक खास बात है। रेलवे स्टेशन न सिर्फ करोड़ों लोगों की यात्रा के गवाह होते हैं, बल्कि अपने अलग-अलग महत्वों के कारण भी मशहूर होते हैं। एक ऐसा ही रेलवे स्टेशन है नवापुर, इस स्टेशन की खास बात यह है कि यह भारत का अकेला ऐसा रेलवे स्टेशन है, जो दो अलग-अलग प्रदेशों का बॉर्डर का हिस्सा है। यानी स्टेशन का एक हिस्सा गुजरात राज्य में है तो दूसरा हिस्सा महाराष्ट्र में। केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी रेलवे स्टेशन के महत्व को साझा करते हुए ट्वीट किया है जिसे लेकर बहुत लोग हैरान हैं।

आपको बता दें नवापुर महाराष्ट्र के नंदूरबार जनपद का एक तालुका है। महाराष्ट्र और गुजरात के विभाजन से पहले ही ये स्टेशन बन चुका था और विभाजन के पश्चात भी रेलवे स्टेशन में कोई फेरबदल नहीं किया गया और परिणाम ये है कि अब दोनों राज्यों में आता है नवापुर का यह रेलवे स्टेशन।

पीयूष गोयल ने ट्वीट कर दोनों राज्यों के लिए इस रेलवे स्टेशन के महत्व के बारे में बात की, अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा,

"#KyaAapJanteHai देश में एक रेलवे स्टेशन ऐसा भी है जो दो राज्यों में स्थित है? सूरत-भुसावल लाइन पर नवापुर एक ऐसा स्टेशन है, जहां स्टेशन के बीचों-बीच दो राज्यों की सीमाएं लगती हैं। इसलिये इस स्टेशन का आधा भाग गुजरात में, तो शेष आधा भाग महाराष्ट्र में है।"

कुछ समय पूर्व भी इस रेलवे स्टेशन की एक बेंच की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी, जिसमें बेंच को बीच में से सफेद लाइन देकर बांटा गया है। बेंच के एक हिस्से पर महाराष्ट्र लिखा गया है और दूसरे पर गुजरात। ठीक वैसे जैसे घर के बीच बंटवारे में खींची गई दीवार।

केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल के ट्वीट पर एक ट्विटर यूजर ने ट्वीट किया और यूजर ने मजाकिया अंदाज में कहा कि बेंच के एक हिस्से पर बैठकर शराब पी सकते हैं, लेकिन दूसरे हिस्से में ऐसा नहीं हो सकता। गुजरात में शराब पर प्रतिबंध है, जबकि महाराष्ट्र में शराब पर ऐसा कोई प्रतिबंध नहीं लगाया गया है।

epmty
epmty
Top