बैंककर्मियों की हड़ताल का व्यापक असर

बैंककर्मियों की हड़ताल का व्यापक असर

देशभर में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक कर्मचारी संगठनों की हड़ताल का मंगलवार को राजधानी रांची समेत राज्यभर में मिलाजुला असर देखने को मिला। राजधानी रांची में बैंक कर्मियों ने हड़ताल के समर्थन में प्रदर्शन भी किये। विभिन्न बैंकों के बाहर हड़ताली कर्मियों ने अपनी मांगों के समर्थन में धरना दिया और नारेबाजी की। हालांकि कई निजी बैंकों में कामकाज सामान्य रुप से हुआ, लेकिन राष्ट्रीयकृत बैंकों में हड़ताल की वजह से कामकाज प्रभावित हुआ। बैंकों में हड़ताल के कारण झारखंड में करोड़ों रुपये का लेन-देन प्रभावित हुआ, वहीं ग्राहकों को भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा, जबकि हड़ताल के दौरान कई एटीएम में भी पैसे खत्म हो जाने के कारण लोग परेशान दिखे। हड़ताल का आह्नान बैंक श्रमिक संघों ने किया था। संयुक्त फोरम का दावा है कि लगभग दस लाख बैंककर्मचारी राष्ट्रव्यापी हड़ताल में शामिल हुए। गौरतलब है कि बैकिंग संघों ने सरकार से नोटबंदी के कारण होने वाले नुकसान की भरपाई करने, बड़े घरानों के पास बकाया ऋण की माफी नहीं करने, जानबूझकर कर्ज नहीं चुकाने वालों के खिलाफ आपराधिक मामला चलाने और बकाए कर्ज को वसूलने के लिए संसदीय समिति की सिफारिशें लागू करने की मांग की है। (पृष्ठ 2 भी देखें)

Top