Top

कृष्णा के लिए अनूठे वस्त्र बनाएंगे छात्र

कृष्णा के लिए अनूठे वस्त्र बनाएंगे छात्र

नई दिल्ली। बात चाहे लॉकडाउन के दौरान समाज के वंचित वर्ग के हित में काम करने की अथवा युवाओं को जोड़ने की द्वारका स्थित इस्कान मंदिर स्वयं सेवी संगठनों (एनजीओ) के साथ मिलकर कदम उठाने में अग्रणी रहा है।

इस्कॉन द्वारका मंदिर ने लाकडाउन में 2.8 करोड़ लोगों को भोजन कराने की हो या विभिन्न एनजीओ के साथ मिलकर समाज के वंचित वर्ग के हित में कदम उठाने की, दिल्ली स्थित इस्कॉन द्वारका मंदिर को अपनी अनूठी पहल के लिए जाना जाता है। अब युवाओं को जोड़ने की अपनी नई पहल के तहत इस्कॉन द्वारका ने पवित्र कार्तिक माह के लिए पर्ल अकेडमी से गठजोड़ किया है। श्री राधा एवं श्री कृष्ण की भक्ति के लिए समर्पित कार्तिक महीने को और आकर्षक बनाने के लिए पर्ल अकेडमी के छात्रों के बीच 'ड्रेस अप कृष्णा' प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। इससे उनकी रचानात्मकता सामने आएगी और वे भगवान द्वारकाधीश के लिए खूबसूरत वस्त्र बना सकेंगे।

प्रतियोगिता दो चरणों में होगी, पहले चरण में वस्त्र का स्केच या शुरुआती ड्राफ्ट जजों के सामने भेजा जाएगा। जजों में पर्ल अकेडमी के अध्यापक एवं इस्कॉन द्वारका के सदस्य शामिल होंगे। दूसरे चरण में पूरी तरह से डिजाइन एवं तैयार किए हुए वस्त्रों का मूल्यांकन किया जाएगा। प्रतियोगिता में 30 विजेता और तीन सर्वोच्च विजेता चुने जाएंगे।

इस्कॉन द्वारका के प्रमुख ने कहा,"यदि हम आज की गतिविधियों में युवाओं को शामिल नहीं करेंगे, तो भविष्य में आस्था एवं परंपराओं पर भरोसा नहीं करने के लिए उन्हें दोष भी नहीं दे सकते। आस्था व श्रद्धा की अलख शुरुआत से ही और घर से ही जगाई जाती है और एक समाज के तौर पर हमारी भी यह जिम्मेदारी है कि उन्हें सीखने और बढ़ने का मौका दें।"

epmty
epmty
Top