महावीर चौक पर पुलिस ने काटा चालान, जेई ने कर दी बत्ती गुल

महावीर चौक पर पुलिस ने काटा चालान, जेई ने कर दी बत्ती गुल

मुजफ्फरनगर। विधुत विभाग के एक अवर अभियंता का चालान काटने पर ट्रैफिक पुलिस को बड़ी फजीहत का सामना करना पड़ा। पुलिस की कार्रवाई से गुस्साये विद्युत अधिकारी ने जब इसकी जानकारी अपने स्टाफ को दी तो उन्होंने बकायादार होने पर ट्रैफिक पुलिस के अधीन शहर में लगे सीसीटीवी कैमरों की बत्ती ही गुल कर डाली। बाद में मामला डीएम तक पहुंचने के बाद कैमरों को सप्लाई चालू की गयी।

महावीर चौक पर यातयात नियमों का उल्लंघन करने पर वित निगम के एक अधिकारी का चालान काटना पुलिस विभाग को भारी पड़ गया। पुलिस की कार्रवाई पर गुस्साये इस विद्युत अधिकारी ने ताव में आकर पुलिस की ही बत्ती गुल कर दी, जिससे विभाग में हड़कम्प मच गया। मामला आला अफसरों तक पहुंचा तो विद्युत विभाग के बड़े अधिकारी भी हरकत में आये। इसके बाद मामला खुला और बत्ती गुल कर शहर के सीसीटीवी कैमरों को बन्द करने वाले विद्युत अधिकारी को फटकार भी लगायी गयी। विद्युत अधिकारी डेमेज कंट्रोल में जुटे और शहर के सीसीटीवी कैमरों के लिए विद्युत आपूर्ति को बहाल कर दिया गया। इस दौरान दशहरा पर्व के दौरान सीसीटीवी कैमरों से निगरानी की व्यवस्था पूरी तरह से चौपट रही। इस प्रकरण में विद्युत अधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

बता दें कि शहर में सुरक्षा व्यवस्था के लिए सीसीटीवी कैमरों का जाल बिछाने पर जोर दिया गया था। इसके लिए शहर की सुरक्षा को लेकर नगर पालिका परिषद् की ओर से शिव चौक, महावीर चौक, मीनाक्षी सहित अन्य मुख्य चौराहों, सड़कों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाये गये थे। नगरपालिका परिषद् ने कैमरों का जाल बिछाने के बाद इसको ट्रैफिक विभाग के अधीन कर दिया था। इसके बाद ट्रेफिक विभाग में ही इन सीसीटीवी कैमरों का कंट्रोल रूम पुलिस लाइन में बना दिया गया। वहीं से पूरे शहर में निगरानी करने काम किया जाता है। किसी जुलूस, शोभायात्रा और त्यौहार के दौरान यह सीसीटीवी कैमरे काफी मुख्य भूमिका निभाते हैं। मंगलवार को शहर में वियजदशमी पर्व मनाया गया और इस दौरान काफी भीड़-भाड़ भी रही। शहर में सभी चौराहों पर पुलिस बल तैनात था, लेकिन पुलिस लाइन में सीसीटीवी कैमरों के कंट्रोल रूम से भी निगरानी की जा रही थी। सवेरे से ही इन कैमरों को एक्टिव रखा गया था और पुलिस कर्मचारी सतर्क थे। लेकिन दशहरे के दौरान अचानक ही महावीर चौक पर लगे कैमरे बंद हो गए। कई अन्य स्थानों के सीसीटीवी कैमरे भी एक्टिव नहीं दिख रहे थे। कंट्रोल रूम से इसकी सूचना अफसरों को दी गयी। इसकी जानकारी की गई तो कैमरों की लाइन में करंट ही गायब पाया गया। विद्युत आपूर्ति नहीं होने के कारण कैमरों ने काम करना ही बन्द कर दिया था।

दहशरा जैसे संवेदनशील आयोजन के बीच शहर के सीसीटीवी कैमरे बन्द होने पर मामले की जानकारी आला अधिकारियों को दी गई। विद्युत विभाग के अफसरों को इस सम्बंध में बुलाया गया और सीसीटीवी कैमरों की लाइन कटने की जानकारी ली गयी तो पता चला कि ट्रेफिक विभाग के कर्मचारियों द्वारा मंगलवार को महावीर चौक के निकट की जा रही चैकिंग के दौरान विद्युत विभाग के एक जेई का यातायात नियमों का पालन नहीं करने के कारण चालान काट दिया गया। पुलिस की इस कार्रवाई से गुस्साये विद्युत जेई ने सीसीटीवी कैमरों को दी जा रही विद्युत आपूर्ति की लाइन ही काट दी। इससे कैमरे बन्द हो गये। कई घंटों के बाद काफी जद्दोजहद के बाद विद्युत विभाग के द्वारा सीसीटीवी कैमरों की लाइन को जोड़ा गया। इस सम्बंध में कुछ विद्युत अफसरों से घटनाक्रम के लिए पूछा गया तो वह कुछ भी कहने से इंकार करते रहे।

कार्यवाहक अधीक्षण अभियंता ओपी मिश्रा एक्सईन टाउनहाल ने बताया कि महावीर चौक पर जेई का चालान काट दिये जाने के बाद ही कुछ विद्युत कर्मचारियों ने सीसीटीवी कैमरों की लाइन काट दी थी। सम्बंधित जेई से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग ने अपनी ड्यूटी निभाते हुए चालान काटा तो विभागीय कर्मचारियों ने भी अपने अफसरों के आदेशों का पालन करते हुए बकाया होने पर बिजली काट दी गयी है।

Top