Top

कप्तान अभिषेक की पुलिस एक्टिव, एक दिन-दो बड़े गुडवर्क

मुजफ्फरनगर। जनपद में अपराध को रोकने और अपराधियों पर नकेल कसने के साथ ही वारदातों का अल्प समय में ही पर्दाफाश करने के लिए कप्तान अभिषेक यादव की पुलिस एक्टिव मोड में रहकर बेहतरीन रिजल्ट देने का काम कर रही है। एसएसपी अभिषेक यादव के नेतृत्व में दो थाना क्षेत्रों में पुलिस ने एक ही दिन में दो बड़े गुडवर्क करते हुए अपराधियों की चुनौती को स्वीकार करने का काम किया है। इसमें एक मासूम बच्ची की हत्या के मामले में पुलिस की सक्रियता और त्वरित खुलासे को लेकर ग्रामीणों में एसएसपी अभिषेक यादव से लेकर थानाध्यक्ष तक पुलिस की प्रशंसा भी हो रही है।

शुक्रवार को दिन निकलते ही जिले में एक मासूम बालिका की हत्या करने की खबरें जब सोशल मीडिया प्लेटफाम्र्स के जरिये लोगों तक पहुंची तो भोर होने से पहले ही सनसनी मची नजर आयी। इस घटना को पुलिस ने बीत शाम मिली शिकायत के बाद से ही गंभीरता से लिया और देर रात तक मात्र चंद ही घंटे में हत्यारोपी की गिरफ्तारी के साथ बच्ची का शव बरामद करते हुए वारदात के खुलासे तक जा पहुंची थी। इस वारदात ने साबित किया कि एसएसपी अभिषेक यादव के मार्ग दर्शन में जनपद पुलिस कितनी एक्टिव है। इसके साथ ही दूसरा गुडवर्क पुलिस की मुठभेड़ से जुड़ा रहा। पुलिस ने मुठभेड़ में अवैध असलहा फैक्ट्री का भंडाफोड़ करते हुए हिस्ट्रीशीटर को गिरफ्तार किया।

गुडवर्क-01, मुबारिकपुर गांव में बच्ची की हत्या का चंद घंटे में खुलासा

जनपद मुजफ्फरनगर के मन्सूरपुर थाना क्षेत्र के अन्तर्गत आने वाले ग्राम मुबारिकपुर में एक सनसनीखेज वारदात ने हड़कम्प मचा दिया। गांव की एक सात साल की मासूम बच्ची का अपहरण करने के बाद उसकी हत्या कर दी गयी। गांव मुबारकपुर निवासी विजेंद्र की 7 साल की बच्ची कल दोपहर बाद अपने घर के बाहर खेल रही थी। आरोप है कि इसी बीच गांव का एक युवक सुनील उर्फ तोता पुत्र किरण पाल बच्चे को बाइक पर बिठाकर अपने साथ जंगल में ले गया। आरोप है कि सुनील ने बच्ची के साथ दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या कर दी और शव को के खेत में डालकर ही फरार हो गया। देर शाम तब जब बच्चे का कोई पता नहीं चला तो परिजनों ने उसकी तलाश की। शक होने पर पुलिस ने सुनील के साथ सख्ती से पूछताछ की तो उसने पूरा मामला उगल दिया, जिसके बाद पुलिस ने मृतक बच्ची का शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेजने के बाद आवश्यक कार्रवाई शुरू कर दी। देर रात मामले की जानकारी मिलने पर एसएसपी अभिषेक यादव, एसपी सिटी सतपाल अंतिल, सीओ खतौली आशीष प्रताप सिंह थाना पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे और जंगल में काफी देर तक छानबीन के बाद मासूम बच्ची का शव ईंख के खेत से बरामद किया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। मंसूरपुर थानाध्यक्ष मनोज चाहल और उनकी टीम ने इस वारदात के खुलासे के लिए पूरी सक्रियता दिखायी।

गुडवर्क-02, सिकन्दरपुर के जंगल में पकड़ी तमंचा फैक्ट्री, हिस्ट्रीशीटर घायल


शुक्रवार को दूसरी सफलता मीरापुर थाना पुलिस के एक्टिव मोड पर रहने के कारण जनपद पुलिस के हिस्से में आये। एसएसपी अभिषेक यादव द्वारा अवैध असलहा तस्करों के खिलाफ चलाये गये अभियान को लेकर मीरापुर पुलिस ने तमंचा फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। 31 जुलाई 2020 को थाना मीरापुर पुलिस द्वारा मुखबिर की सूचना पर गांव सिकन्दरपुर के जंगल में छापा मारा गया। यहां पुलिस मुठभेड के दौरान 01 अभियुक्त को गिरफ्तार किया गया। सीओ जानसठ शकील अहमद ने थाने में इस गुडवर्क को लेकर मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त अफजाल पुत्र हसन झोझा निवासी सिकन्दरपुर शातिर किस्म का अवैध शस्त्र बनाने वाला अपराधी है, जो ग्राम सिकन्दरपुर के जंगलों में अवैध शस्त्र बनाता था, जिस पर आयुद्ध अधिनियम, गुण्डा अधिनियम जैसी संगीन धाराओं में लगभग डेढ दर्जन अभियोग पंजिकृत हैं। अफजाल यहां अवैध असलहा तैयार करते हुए आसपास के जनपदों व राज्यों में सप्लाई करता है। पुलिस ने अफजाल के पास से 02 तमंचे मय 02 खोखा व 01 जिन्दा कारतूस 315 बोर, 1 बन्दूक 12 बोर, 3 मस्कट 315 बोर, 1 तमंचा मय 01 जिन्दा कारतूस 12 बोर। अधबने तमंचे और नाल व अन्य उपकरण बरामद किये हैं। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त अफजाल थाना मीरापुर का टॉप-10 तथा हिस्ट्रीशीटर बदमाश है। थाने पर उसकी हिस्ट्रीशीट संख्या एचएस-110 है।

epmty
epmty
Top