Top

एम्बुलेंस में पैसे लेने की शिकायत पर डिप्टी सीएमओ व चालक को जेल भेजा जायेगा : सेल्वा कुमारी जे

एम्बुलेंस में पैसे लेने की शिकायत पर डिप्टी सीएमओ व चालक को जेल भेजा जायेगा : सेल्वा कुमारी जे

मुजफ्फरनगर । जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे जनपद की स्वास्थ्य सेवाओं प्रति गम्भीर रूख अपनाते हुए मुख्य चिकित्साधिकारी को कडे निर्देश दिये अगर एम्बुलेंस में किसी के द्वारा पैसे मागे जाने की शिकायत प्राप्त हुई और जांच के उपरान्त शिकायत सही पाये जाने पर डिप्टी सीएमओ व ड्राईवर को जेल भेजा जायेगा। उन्होने कहा कि सभी एम्बुलेंस में निशुल्क सेवा का बोर्ड व उस पर शिकायत नम्बर लगा होना चाहिए। उन्होने कहा कि जांच कराई जायेगी।






जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे आज कलैक्ट्रेट सभागार में स्वास्थ्य विभाग की डीएचएस की समीक्षा बैठक कर रही थी।



जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि जिला चिकित्सालयों सभी सीएचसी व पीएचसी पर सभी आवश्यक दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चत कराई जाये। उन्होने कहा कि सभी सीएचसी व पीएचसी पर निरीक्षण कराया जायेगा। निरीक्षण में गडबडी मिलने पर सम्बन्धित के विरूद्व कडी कार्यवाही की जायेगी। उन्होने निर्देश दिये कि 102 व 108 का रिस्पोंस टाईम ठीक कराया जाये। एम्बुलेंस समय से मरीज तक पहुंचे। उन्होने निर्देश दिये कि सभी एम्बुलेंस ड्राईवर की लिस्ट उपलब्ध कराई जाये ताकि सम्बन्धित थानों को लिस्ट भेजी जा सके। उन्होने निर्देश दिये सभी आशा, आंगनबाडी व आशा संगिनी का पंजीकरण श्रम विभाग में कराया जाये। उन्हे प्रधानमंत्री श्रम मानधन योजना से भी जोडा जाये। उन्होने निर्देश दिये सभी आशओं की एक ग्रेडिंग कराई जाये जो सही कार्य नही कर रही है उन्हे हटाया जाये। जेल में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई जाये। उन्होने कहा कि सभी ग्रामों में एंटी फाॅगिग मशीन क्रय कराई जाये, सभी आंगनबाडी सैन्टर पर वजन मशीन, लम्बाई नापने आदि का सामान अनटाईडफंड से क्रय किया जाये।



जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि सभी प्राथमिक विधालयों में बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम में अन्तर्गत अभियान चलाकर सभी बच्चों को स्वास्थ्य केन्द्र पर बुलाया जाये और उनकी अंाखों, कान व अन्य बीमारियों की जांच कराई जाये। उन्होने निर्देश दिये कि बच्चों की दृष्टि कम पाये जाने, कम सुनने पर उन्हे निशुल्क चश्में, सुनने की मशीन उपलब्ध कराई जाये। उन्होने कहा कि बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम में अगर किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नही की जायेगी। उन्होने कहा कि प्रतिदिन इसकी रिर्पोट प्रेषित करें कि कितने बच्चों की स्वास्थ्य जाच की गई। उन्होने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं की जानकारी का प्रचार प्रसार किया जाये। जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य येाजनाओं में विभिन्न मदों में प्राप्त धनराशि के खर्च की कमी पर मुख्य चिकित्साधिकारी तथा नोडल अधिकारियों को चेतावनी जारी करने के निर्देश भी दिये।



इस अवसर पर प्रभारी मुख्य विकास अधिकारी पीएस मिश्रा, सीएमएस, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी सहित एमओआईसी व चिकित्सक उपस्थित थे।

epmty
epmty
Top