Top

शाहपुर में दिखा सांप्रदायिक सौहार्द, मुस्लिमों ने की कांवड़ियों की सेवा

शाहपुर में दिखा सांप्रदायिक सौहार्द, मुस्लिमों ने की कांवड़ियों की सेवा

मुजफ्फरनगर/ शाहपुर । इस बार कांवड यात्रा या यूं कहें कि कांवड़ महोत्सव कई मायनों में इतिहास रच गया है। कावंड यात्रा ने एक ओर जहां धार्मिक संदेश का प्रसार किया, वहीं इस दौरान देशभक्ति का भी भरपूर संचार हुआ। इस सबसे इतर इस बार सबसे अच्छी जो हुई वह यह कि कवाल दंगे के बाद हिन्दू-मुस्लिमों के बीच जिस तेजी से दूरी बढ़ी थी, कांवड यात्रा के दौरान उस समय वह खाई उसी तेजी के साथ पटती हुई दिखायी दी, जब मुस्लिम समाज के जिम्मेदार लोगों ने रातभर शिवभक्तों को चिकित्सा सेवा तो प्रदान की ही साथ ही बुर्कानशीं महिलाएं भी शिवभक्त कांवडियों की सेवा करती दिखायी दीं।


अहमद हॉस्पिटल के तत्वाधान में आयोजित चिकित्सा शिविर शिव भक्तों को चिकित्सा सेवाएं प्रदान





बता दें कि शिवभक्त कांवडियों के लिए अहमद हॉस्पिटल के तत्वाधान में आयोजित चिकित्सा शिविर मैं नगर पंचायत अध्यक्ष परमेश सैनी, हाजी नफासत खान व डॉक्टर जुबेर अहमद डॉ अब्बास अली और सरफराज आदि ने रातभर जागकर शिव भक्तों को चिकित्सा सेवाएं प्रदान की, जिसके तहत उन्होंने शिवभक्तों की मरहम पट्टी करने सहित अन्य चिकित्सा सेवाएं भी प्रदान की, जिसमें मुफ्त दवाईयां भी वितरित की गयी। इस दौरान बुर्कानशीं मुस्लिम महिलाओं ने भी शिवभक्तों की दिल से सेवा की। जानकारों की मानें तो यह वाकिया भविष्य में संस्मरण के रूप में याद किया जाता रहेगा।






इस बार कांवड़ यात्रा के दौरान शाहपुर अस्तित्व सामाजिक सेवा व नेहरू युवा समिति संस्था द्वारा लगाए गए निशुल्क दवाई केंद्र को कस्बे मेंं किसान मेडिकल स्टोर व वकील सैफी सभासद के मेन रोड स्थित आवास पर लगाकर पैदल व डाक कांवडियों की दवाइयां देकर खिदमत की गई।


हाजी नफासत खान ने कांवडियों से भविष्य में भी शाहपुर रूट से होकर जाने की अपील




नगर के प्रख्यात समाजसेवी हाजी नफासत खान ने कस्बे से होकर गुजरने वाले कांवडियों से भविष्य में भी इसी रूट से होकर जाने की अपील की। नगर पंचायत अध्यक्ष वे पुलिस प्रशासन एवं सभी सरकारी महकमों द्वारा की गई व्यवस्थाओं से सभी संतुष्ट नजर आये। कवाल काण्ड़ के बाद सबसे अधिक प्रभावित शाहपुर कांवड़ यात्रा के दौरान सौहार्द का प्रतीक बनकर उभरा है।

epmty
epmty
Top