महिला सशक्तिकरण के सुनहरे हस्ताक्षर हैं बेहडा के प्रधानपति उपदेश उर्फ बबलू

महिला सशक्तिकरण के सुनहरे हस्ताक्षर हैं बेहडा के प्रधानपति उपदेश उर्फ बबलू

अबला के रूप में घर में चौका-चूल्हा तक सीमित रहने वाली आधी आबादी में सामाजिक व राजनीतिक चेतना का संचार करके नारी शक्ति को बढ़ावा देने के लिए अपनी पत्नी को ग्राम प्रधान निर्वाचित कराकर उनके हर काम में सहयोगी बने जोश से लबरेज उपदेश उर्फ बबलू ग्राम बेहडा की प्रधान मंजू के पति के रूप में आज क्षेत्र में एक जाना-माना नाम बन चुके हैं।

गांव की कोई भी समस्या हो वे हमेशा बिना किसी भेदभाव के हमेशा उसके निराकरण के लिए तत्पर रहते हैं

पेशे से किसान उपदेश उर्फ बबलू की पत्नी ने लगभग 52 सौ मतों वाले गांव बेहडा सादात में अपने निकटतम प्रतिद्वन्दी को मात्र 65 मतों से पराजित करके पहली बार ग्राम प्रधान का ताज पहना था। पत्नी मंजू के ग्राम प्रधान के रूप में चुने जाने के बाद से उनके पति उपदेश उर्फ बबलू ने उन्हें कभी अकेला महसूस नहीं होने दिया है। वे बताते हैं कि ग्राम प्रधान के रूप में वे अपनी पत्नी के हर काम में कंधे से कंधा मिलाकर उनके सम्बल के रूप में हमेशा साथ रहे हैं। उन्होंने बताया कि गांव की कोई भी समस्या हो वे हमेशा बिना किसी भेदभाव के हमेशा उसके निराकरण के लिए तत्पर रहते हैं।

ग्राम प्रधान के रूप में उन्हें अपने पति का हमेशा से सहयोग मिला है और उसी के बल पर वे गांव में जलनिकास सहित पेयजल आदि के संसाधन जुटा पायी हैं

ग्राम प्रधान मंजू बताती हैं कि ग्राम प्रधान के रूप में उन्हें अपने पति का हमेशा से सहयोग मिला है और उसी के बल पर वे गांव में जलनिकास सहित पेयजल आदि के संसाधन जुटा पायी हैं। वे बताती हैं कि गांव में इस समय कोई भी ऐसी नाली नहीं हैं, जिसपर चैनल आदि नहीं लगे हों। ग्राम प्रधान के पति उपदेश की मानें तो उनके परिवार ग्राम प्रधान निर्वाचित होने वाली उनकी पत्नी प्रथम महिला हैं।

राजनीति में वे अपना आदर्श पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी को मानते हैं

ग्राम प्रधान मंजू की मानें तो उनके सास-ससुर ही उनका आदर्श हैं। इसके विपरीत मंजू के पति उपदेश उर्फ बबलू के अनुसार उनका आदर्श भी उनके माता-पिता ही हैं। इसके साथ ही राजनीति में वे अपना आदर्श पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी को मानते हैं। भाजपा समर्थक उपदेश का कहना है कि वे आरम्भ से ही भाजपा की नीतियों से प्रभावित थे, लेकिन यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कार्यशैली और व्यक्तित्व ने भाजपा के प्रति उनके विश्वास को और अधिक गहरा कर दिया है। उन्होंने दावा किया कि हाल में सम्पन्न हुए लोकसभा चुनाव में उन्होंने भाजपा प्रत्याशी डा.संजीव कुमार बालियान का खुलकर प्रचार करते हुए उन्हें जिताने का काम किया था।

गांव में बेटियों की शादी के लिए विवाह मण्डप बनवाना चाहते हैं

ग्राम प्रधान मंजू व उनके पति उपदेश कुमार उर्फ बबलू का कहना है कि अब तक ऐसा कोई भी कार्य नहीं है, जिसकी गांव में जरूरत हो और वे उसे न कर पायें हों, लेकिन वे गांव में बेटियों की शादी के लिए विवाह मण्डप बनवाना चाहते हैं और इसके लिए उन्होंने प्रयास भी शुरू कर दिये हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की, कि वे शीघ्र ही गांव में विवाह मण्डल बनवाने में कामयाब हो जायेंगे। वे चाहते हैं कि गांव में शिक्षा का माहौल विशेष रूप से बालिका शिक्षा के विषय में और अधिक संसाधन जुटाने का प्रयास कर रहे हैं। वे चाहते हैं गांव में रोजगार के साधनों में वृद्धि हो। विगत दिनों जनपद में आयोजित गुड़ महोत्सव के संदर्भ में उपदेश का मानना है कि एक जनपद एक उत्पाद योजना के तहत गुड़ व्यवसाय को बढ़ावा देने से जहां क्षेत्र में कुटिर उद्योग को बढ़ावा मिलेगा ही साथ ही गन्ना किसानों की आय में और अधिक वृद्धि होगी।

epmty
epmty
Top