Top

सात माह से बिछड़ी वृद्धा के परिवार को पुलिस ने आखिरकार खोज निकाला

सात माह से बिछड़ी वृद्धा के परिवार को पुलिस ने आखिरकार खोज निकाला

मुरैना। मध्यप्रदेश के मुरैना जिले की पुलिस ने सात माह से भटकी हुई छत्तीसगढ़ राज्य के राजनांदगांव जिले की निवासी एक वृद्ध महिला के परिवार को काफी परिश्रम के बाद खोज लिया। इस कार्य में आधुनिक सूचना प्रौद्योगिकी की मदद भी ली गयी।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार इसी वर्ष 06 जून को लावारिस हालत में मुरैना के रेलवे स्टेशन पर मिली एक वृद्ध महिला को मुरैना पुलिस के कुछ जवान यहीं के वृद्धाश्रम में छोड़कर आये थे। महिला की बोली किसी को समझ में नहीं आ रही थी और इसके चलते काफी समय निकल गया।

मुरैना के पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानियां ने उनकी जानकारी में मामला आने पर मानवता का परिचय देते हुये मुरैना के रक्षित निरीक्षक कृष्णप्रताप सिंह को कल उसके पास वृद्धाश्रम भेजा और उससे बात कराई। रक्षित निरीक्षक ने महिला की छत्तीसगढ़ी व मराठी मिश्रित भाषा को समझा। इसके बाद राजनांदगांव जिले के जिम्मेदारों से सम्पर्क कर वहां के लोकल वाट्सएप ग्रुप में उसकी तस्वीर वायरल कराई।

सूत्रों के अनुसार राजनांदगांव जिले की चिखली पंचायत के 15 हजार से अधिक लोगों की मतदाता सूची खंगाली गयी, तब वृद्धा की बहू और पुत्रों की जानकारी मिल सकी। रक्षित निरीक्षक ने जब उस वृद्धा की बेटे और बहू से मोबाइल फोन पर बात कराई, तो उसका चेहरा खिल उठा और उसकी आँखों से अश्रु धारा बहने लगी। अब वृद्धा को लेने के लिए उसके परिजन आ रहे हैं।

वृद्धाश्रम के प्रबंधकों ने आज बताया कि आज ही वृद्धा के बेटे का फोन आया था और उन्होंने सूचित किया है कि उन्हें ट्रेन में आरक्षण मिलते ही वे शीघ्र ही मुरैना पहुुंचेंगे।



वार्ता

epmty
epmty
Top