Top

भाजपा नेता ने मंत्री को जगाया-रेमडेसीविर के लिए बंगले पर धरना

भाजपा नेता ने मंत्री को जगाया-रेमडेसीविर के लिए बंगले पर धरना

ग्वालियर। देशभर में अपना कहर बरपा रही कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने हर किसी को बुरी तरह से हिलाकर रख दिया है। रेमडेसीविर इंजेक्शन व ऑक्सीजन की किल्लत और अस्पतालों में बेड की कमी ने लोगों की परेशानियों में और अधिक इजाफा कर दिया है। इसी बीच भाजपा नेता भी अब कोरोना संक्रमण की वजह से उपजे हालातों के बीच सरकार के खिलाफ हो गए हैं। भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष ने कोविड-19 प्रभारी मंत्री की कोठी के बाहर रेमडेसीविर इंजेक्शन के लिए प्रदर्शन करते हुए धरना दिया।

सोमवार को भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष देवेश शर्मा महानगर में कोरोना संक्रमण को लेकर बेकाबू हो रहे हालातों में स्वास्थ्य सेवाओं की लचर व्यवस्था में सुधार की मांग को करते हुए ऊर्जा मंत्री और कोविड-19 प्रभारी मंत्री प्रदुमन सिंह तोमर के बंगले के सामने लेट गए। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा कार्यकर्ताओं को रेमडेसीविर इंजेक्शन नहीं मिल रहे हैं। जिसके अभाव में संघ कार्यकर्ता की भाभी की मौत हो गई है। इसलिए वह धरने पर बैठे हैं। उनका आरोप है कि आने वाले समय में स्थिति और भी अधिक खराब होने की संभावना है। इस दौरान पुलिस ने मंत्री की कोठी के बाहर धरना दे रहे देवेश शर्मा को उठकर थाने चलने के लिए का तो उन्होंने जमकर हंगामा किया और कहा कि मुझे अभी गिरफ्तार करो। मुझे मंत्री की धौंस मत दो। मैं जनसंघ के समय से ही भाजपा का कार्यकर्ता हूं। जितनी उम्र ऊर्जा मंत्री प्रदुमन सिंह तोमर की नहीं है उससे ज्यादा समय मुझे आंदोलन करते हुए हो गया है। इस बीच कांग्रेस नेता सतीश सिकरवार भी मौके पर पहुंच गए और शहर में रेमडेसीविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की कमी का आरोप लगाते हुए वह भी देवेश शर्मा के साथ धरने पर बैठ गए। ऊर्जा मंत्री के आने के बाद देवेश शर्मा को बडी मुश्किल से मान मनोव्वल कर मनाया गया। तब कहीं जाकर वह धरने से उठे। इस दौरान भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष को रेमडेसीविर का इंजेक्शन दिलाने का आश्वासन दिया गया। भाजपा नेता ने कहा कि मैंने धरना प्रदर्शन करते हुए कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच सोए हुए ऊर्जा मंत्री को जगाने का काम किया है।




epmty
epmty
Top