Top

क्या फिर आइसोलेट होंगे शिवराज?

क्या फिर आइसोलेट होंगे शिवराज?

इंदौर। कोरोना संक्रमण को मात देने के लिए मध्य प्रदेश शासन लगातार प्रयास कर रहा है. बावजूद इसके राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या कम होने के बजाय दिनों-दिन बढ़ रही है. मुख्यमंत्री शिवराज हाल ही में कोरोना संक्रमण से ठीक हुए हैं. जिसके बाद उन्होंने पहले की तरह ही काम शुरू किया. इसी बीच सीएम दोबारा इंदौर में एक कार्यक्रम के दौरान एक कोरोना संक्रमित के संपर्क में आ गए हैं।

दरअसल पिछले शुक्रवार को सीएम शिवराज ट्रेचिंग ग्राउंड में बायोमेथेनाइजेशन प्लांट के शिलान्यास कार्यक्रम में पहुंचे थे. जहां लोकार्पण के लिए नगर निगम उपायुक्त अरुण शर्मा द्वारा सीएम को रिमोट पकड़ाया गया. चिंता की बात ये है कि अरुण शर्मा की कोरोना जांच की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. सीएम के साथ मंच पर भाजपा के कई दिग्गज नेता भी मौजूद थे. जिन सभी पर कोरोना संक्रमण का खतरा बन गया है।

जानकारी के मुताबिक इस कार्यक्रम के आयोजन का सारा काम अरुण शर्मा संभाल रहे थे. इसी के चलते सीएम को रिमोट थमाने के लिए अरुण शर्मा ही आगे बढ़े. हालांकि ये उनकी बड़ी लापरवाही है. बताया जा रहा है कि उनके साथ कमरे में बैठने वाले एक अधिकारी पिछले दिनों कोरोना पॉजिटिव निकले थे. खुद को आइसोलेट कर कोरोना जांच कराने के बजाये अरुण शर्मा लगातार दफ्तर आते रहे और लोगों के संपर्क में भी रहे।

कहा जाता है जो व्यक्ति कोरोना संक्रमण से ठीक हो जाता है वह एंटीबॉडी बन जाता है. लेकिन हाल ही में एक शोध से पता चला है कि कोरोना वायरस से लड़ने वाली एंटीबॉडी हल्के लक्षण वाले मरीजों में कुछ समय ही रहती है. अगर इस बात पर गौर किया जाए तो मुख्यमंत्री खतरे में नहीं है पर मंच पर मौजूद अन्य नेताओं पर खतरा मंडरा रहा है।

(हिफी न्यूज)

epmty
epmty
Top